Surah Muzammil: In Hindi, Roman English, Arabic With Translation & Transliteration

Download Surah Muzammil

Surah Al Muzammil In Arabic

Surah Muzammil Page 1
Surah Muzammil Page 2

Surah Muzammil In Hindi

Surah Muzammil In English

Surah Muzammil In Hindi Tarjuma

Surah Muzammil Benefits (Fazilat)

  1. जो शख्स सूरह मुजम्मिल (Surah Muzammil) को पूरी लगन और दिल से तिलावत करेगा उसे हजरत मुहम्मद मुस्तफा (स.अ.व) की जियारत नसीब होगी ।
  2. उन्होंने यह भी कहा है कि जो शख्स सूरह मुजम्मिल (Surah Muzammil) की तिलावत रोजाना करता है वो शैतानी हरकतों से और किसी का गुलाम होने से महफूज़ रहेगा ।
  3. सूरह मुजम्मिल (Surah Muzammil) को जुमेरात (बृहस्पति) की रात को 100 बार पढ़ने से पढ़ने वाले के 100 बड़े गुनाह माफ कर दिए जाते हैं ।
  4. सूरह मुजम्मिल (Surah Muzammil) कठिन समय में अपने पढ़ने वाले की हिफाजत करता है और उसे सही रास्ता दिखाता है ।
  5. उन्होंने आगे लिखा है , कि लोगों की दुआओं का हमेशा जवाब दिया जाएगा , अगर वो रोजाना सूरह मुजम्मिल (Surah Muzammil) की तिलावत करता है तो ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *